3 yrs ·Translate

हमारा एक ही धर्म है -'इंसानियत', हमारा एक ही मंदिर है 'संसद', हमारा एक ही भगवान है -'न्याय' ,हमारी एक ही धार्मिक किताब है – 'अम्बेडकर संविधान' , 'शिक्षा' ही हमारा हथियार है , 'संगठन' ही हमारा सत्संग है , और 'संघर्ष' ही हमारी पूजा है
इसी के साथ आज सभी देशवासियों को बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर को कोटि कोटि नमन करते हुए *संविधान दिवस* पर हार्दिक शुभकामनाएं।

image